स्टेटस पुराने गाने

स्टेटस पुराने गाने

time:2022-01-22 00:25:17 स्टेटस पुराने गाने Views:4591

खुश किसान अल्ट्रा स्लो स्टेटस पुराने गाने betway आधिकारिक वेबसाइट,लीवगैस जमा बोनस,lovebet 90,lovebet किलविनिंग,lovebet यूएसए,6+ पोकरस्टार,बैकरेट गणना विधि,बैकरेट रोड लिस्ट डाउनलोड,बेस्ट स्ट्रेच फाइव जंपशॉट 2k21,नकद शतरंज आधिकारिक वेबसाइट,कैसीनो ग्रह बोनस कोड,शतरंज तुम कैसी हो,क्रिकेट एस्पन,डे स्पोर्ट्स स्कूल,यूरोपीय कप लाइव,फुटबॉल के मैदान की लंबाई,किताब का खेल क्रिकेट हैकरअर्थ,किसान दिवस की शुभकामनाएं कब है,इंडीबेट कतर,जैकपॉट खेल उपहार और मनोरंजन पोकर चिप्स,छोटी क्रिकेट किताब,लाइव रूले ग्रीस,लॉटरी की कीमत,एमबीए फुटबॉल उद्योग,ऑनलाइन कैसीनो जैक,हांगकांग और ताइवान से ऑनलाइन लाइव प्रसारण,ऑनलाइन स्लॉट असली पैसा जीतते हैं,पोकर एनीमे,पूल रम्मी व्यायाम,रूले याकूब किवामी,रमी मोबाइल मराठी,sh.lovebet.de लॉगिन,स्लॉट रियल मनी ऐप,खेल गांव,तीन पत्ती ट्रिक्स,सबसे प्रतिष्ठित मनोरंजन मंच,वॉलीबॉल नियम,विश्व कप फुटबॉल मैच का समय,असली पैसे का खेल netflix,कैटरीना यादव,खेलो पर जुआ ka,जोकर डे पैनल चार्ट,फुटबॉल इंडियन सुपर लीग,बेटा ऑफिस,लाटरी पंजाब,स्टेटस हिंदी ज़िन्दगी, .नए साल में भी छाए रहेंगे आईपीओ, कंपनियां जुटा सकती हैं 1.5 लाख करोड़ रुपये

(शिल्पी पांडेय)

नयी दिल्ली, 28 दिसंबर (भाषा) आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) नए साल में भी दलाल पथ को गुलजार करने के लिए तैयार हैं। कंपनियों को 2021 की तेजी के बाद 2022 में भी आईपीओ से 1.5 लाख करोड़ रुपये तक जुटाने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि आईपीओ के लिए 2021 भारतीय बाजार में पिछले पिछले दो दशकों में सबसे बढ़िया साल रहा।

अत्यधिक नकदी और खुदरा निवेशकों की बढ़ी हुई भागीदारी ने आईपीओ के क्षेत्र में उत्साह को लगातार बनाए रखा, और महामारी की निराशा के बीच इस साल कंपनियों ने 1.2 लाख करोड़ रुपये से अधिक जुटाए।

वर्ष 2022 में प्राथमिक बाजार के जरिये बड़े पैमाने पर धन जुटाने की शुरुआत सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के एक बड़े आईपीओ से होगी। इसके अलावा नए जमाने के कई डिजिटल खिलाड़ी आईपीओ बाजार में उतरने के लिए तैयार हैं।

इक्विरस में इक्विटी पूंजी बाजार के प्रबंध निदेशक और प्रमुख वेंकटराघवन एस ने कहा कि ब्याज दरें बढ़ने के साथ मौजूदा खुमारी में कुछ कमी हो सकती है, लेकिन ये महत्वपूर्ण स्तर पर बना रहेगा। हालांकि, महामारी को लेकर कुछ चिंताएं बनी हुई हैं।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज में खुदरा क्षेत्र के सीईओ संदीप भारद्वाज ने कहा कि 2022 में आईपीओ के जरिये पूंजी जुटाने में नया रिकॉर्ड बनाया जा सकता है और एलआईसी का आईपीओ वैश्विक निवेशकों का ध्यान भी खींचेगा।

वैश्विक सलाहकार फर्म ईवाई की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत के लिए 2021 दो दशकों में सर्वश्रेष्ठ आईपीओ वर्ष रहा।

हालांकि, कुछ लोगों का मानना है कि 2022 में उत्साह कुछ कम होगा। प्रभुदास लीलाधर के निवेश उत्पाद प्रमुख पीयूष नागदा ने कहा कि अगले साल बाजार की धारणा कोविड-19 के नए स्वरूप के कारण प्रभावित होगी और ऐसे में अनिश्चितता बाजारों और अर्थव्यवस्था पर भारी पड़ रही है।

फर्स्ट वॉटर कैपिटल फंड (एआईएफ) के लीड प्रायोजक रिकी कृपलानी ने अनुमान जताया कि 2022 आईपीओ बाजारों के लिए 2021 जितना उत्साहजनक नहीं होगा, खासतौर से यह देखते हुए कि हाल में पेटीएम जैसे कुछ बड़े सार्वजनिक निर्गमों ने सूचीबद्ध होने के बाद अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

With leaner books, Tata Power can make it big in renewables. But don’t miss RIL, Adani’s war chest.
Strategy

With leaner books, Tata Power can make it big in renewables. But don’t miss RIL, Adani’s war chest.

9 mins read
An IIT grad, some graphene, a supercapacitor: behind Log 9’s EV batteries that charge in 30 minutes
Innovation

An IIT grad, some graphene, a supercapacitor: behind Log 9’s EV batteries that charge in 30 minutes

11 mins read
It’s good for the planet and can make money, too: inside JSW Energy’s decision to go green
Renewables

It’s good for the planet and can make money, too: inside JSW Energy’s decision to go green

8 mins read
पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
यूरोपीय सट्टेबाजों ने खुला मुआवजा

मुंबई, 28 दिसंबर (भाषा) बाजार नियामक सेबी ने कहा है कि इकाइयों को कारण बताओ नोटिस या पूरक नोटिस मिलने की तारीख से निपटान आवेदन देने की अवधि 60 दिन होगी। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के निदेशक मंडल की मंगलवार को हुई बैठक में यह निर्णय किया गया। इसका मकसद निपटान प्रक्रिया से संबंधित नियमों को युक्तिसंगत बनाना है। इस संदर्भ में निपटान प्रक्रिया नियमन में बदलाव किये जाएंगे। मौजूदा नियमन एक जनवरी, 2019 को अमल में आया था। नियामक ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘कारण बताओ नोटिस या पूरक नोटिस, जो भी बाद में हो, उसके मिलने

क्रिकेट चर्चा लाइव

हॉलीडे पर निकलने से पहले अगर आप इन पांच टिप्स का ध्यान रखेंगे तो आपको काफी फायदा हो सकता है.

188bet नौकरियां

वास्तव में चार्टर्ड अकाउंटेंसी की पढ़ाई कर रहे छात्र इन दिनों सिस्टम में सुधार के मूड में नजर आ रहे हैं.

कैसीनो स्टार

एक्‍सपर्ट्स कहते हैं कि एक बार अच्‍छे पोर्टफोलियो की नींव पड़ जाने के बाद ही सुरक्षित तरीके से शेयरों में मौके तलाशने चाहिए.

रमी अड्डा

नयी दिल्ली, 29 दिसंबर (भाषा) एयरएशिया इंडिया ने बुधवार को कहा कि उसने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) को सभी बकाया का भुगतान कर दिया है और विमानन कंपनी सितंबर 2021 से देय तारीखों पर ऋण शर्तों के अनुसार सभी भुगतान कर रही है। पीटीआई-भाषा ने 26 दिसंबर को बताया था कि एएआई के आंतरिक दस्तावेजों के अनुसार एएआई को एयरएशिया इंडिया का बकाया बढ़कर अक्टूबर 2021 में 3.58 करोड़ रुपये हो गया, जो जनवरी 2020 में 1.47 करोड़ रुपये था। विमानन कंपनियों को एयर नेविगेशन, लैंडिंग और पार्किंग के लिए एएआई के हवाई अड्डों पर सुविधाओं का इस्तेमाल करने के लिए

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी