जी फुटबॉल की स्थिति   >  News trends  >  India highlights

जी फुटबॉल की स्थिति

स्रोत: Nanfang Daily Online Edition     time: 2021-10-22 13:35:07

जी फुटबॉल की स्थिति उत्पत्ति कैसीनो मोबाइल ऐप betway संपर्क नंबर भारत,fun88 मोबाइल,lovebet 4 नियम स्कोर करने के लिए,lovebet हेल्प इंडिया,lovebet टी/ए हिलसाइड सर्विसेज,10 क्रिक साइन अप,बैकरेट एजेंसी सहयोग,बैकरेट ऑड्स टिप्स,बेस्ट जैक्सन फाइव डांस गाने,बोनस ज़रा,कैसीनो का खेल,शतरंज 960 पद,एरिक कार्ले द्वारा क्रिकेट की किताब,क्रिकेट विश्व कप gk in hindi,एस्पोर्ट्स ज्यूरिख,फ़ुटबॉल या कनाडा,जी कैसीनो बोल्टन,हैप्पी किसान दिवस की स्थिति हिंदी में,https://www.junglee rummy.com लॉगिन,जे फुटबॉल टीवी यूट्यूब,ला कैसीनो होटल,लाइव कैसीनो वीडियो स्लॉट,लॉटरी जीतने का तारिका,लूडो वेब सीरीज,ऑनलाइन ब्लैकजैक गेमिंग वेबसाइट,ऑनलाइन गेम प्ले कार,ऑनलाइन स्लॉट कैसे जीतें,प्वाइंट रम्मी जोन,पोकर युद्ध इतिहास,रूले लाइव फ़ीड,रम्मी सर्कल मोबाइल नंबर बदलें,रम्मीकल्चर वापसी,स्लॉट्स ई ओ क्यू,खेल समाचार क्रिकेट,तीन पत्ती कस्टमर केयर नंबर,इंटरनेट पर सबसे हॉट बोर्ड गेम,लाइव रूले देखें,वाइल्डज़ बोनस कोड कोई जमा नहीं,cricket स्कोर,करीना गेम,क्रिकेट बॉल,चेस रिजल्ट्स,प स्टेटस,बरसात फिल्म 1995,रमी पैशन,स्टेटस तस्वीर, ,कारें होंगी महंगी, जानिए कितनी बढ़ेंगी कीमतें

  


  

जी फुटबॉल की स्थिति

  कारें होंगी महंगी, जानिए कितनी बढ़ेंगी कीमतें

टाटा मोटर्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी कंपनियां पहले ही अप्रैल से दाम बढ़ाने के संकेत दे चुकी हैं.
कार के दाम जल्‍द और बढ़ सकते हैं. इनमें 2-3 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है. कार बनाने वाली कंपनियां इस बारे में विचार कर रही हैं. कच्‍चे माल की लगातार बढ़ती कीमतों और ऑटो पार्ट्स की किल्‍लत के चलते वे इसके लिए मजबूर हैं. अगर ऐसा हुआ तो हाल की कुछ तिमाहियों में यह लगातार तीसरी बार होगा जब गाड़‍ियों के दाम बढ़ेंगे. पिछली बढ़ोतरी के बाद कारें करीब 4-6 फीसदी और टू-व्‍हीलर्स 8-10 फीसदी महंगे हो चुके हैं.

पिछले तीन महीनों में वाहनों को बनाने में लगने वाले कच्‍चे माल की कीमतें बढ़ी हैं. इससे वाहनों के दाम 10-15 फीसदी तक बढ़े हैं. इन्‍हें बनाने में स्‍टील, एलुमिनियम, रबर से लेकर कीमती धातुओं तक का इस्‍तेमाल होता है. पॉलीमर से लेकर रबर तक के भाव 10-60 फीसदी चढ़े हैं. सेमीकंडक्‍टर को लेकर डिमांड और सप्‍लाई में विसंगति के कारण भी इनपुस्‍ट कॉस्‍ट बढ़ी है.

इसे भी पढ़ें : टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसी हो सकती है महंगी, यह है वजह

तीन कंपनियों ने बताया कि चिप मैन्‍यूफैक्‍चरर्स को भारतीय ऑटो ओईएम (ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्‍यूफैक्‍चरर्स) से कीमत बढ़ाने के अनुरोध मिलने लगे हैं. सप्लाई की शॉर्टैज और मांग बढ़ने से 2021 में चिप की कीमतें 4-6 फीसदी तक बढ़ सकती हैं. वहीं, सप्‍लाई की किल्‍लत अगले 2-3 तिमाहियों तक बनी रह सकती है.

टाटा मोटर्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी कंपनियां पहले ही अप्रैल से दाम बढ़ाने के संकेत दे चुकी हैं. इन कंपनियों ने पिछले 6 महीनों में दो बार दाम बढ़ाए हैं. आयशर मोटर के स्‍वामित्‍व वाली रॉयल एनफील्‍ड ने भी कीमतों में 3-5 फीसदी बढ़ोतरी का अंदेशा जताया है. जबकि 2021 की शुरुआत में पहले ही यह इतनी बढ़ोतरी कर चुकी है.

इसे भी पढ़ें : फास्‍टैग नहीं लिया है? परेशान न हों, कुछ ही मिनट में गाड़ी में लग जाएगा

क्रेडिट सुईस के अनुसार, यह सही है कि मारुति सुजुकी ने प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले सबसे बाद में दाम बढ़ाने का एलान किया. लेकिन, 18 जनवरी से प्रभावी सभी मॉडलों पर 34,000 रुपये तक की बढ़ोतरी 2.7 फीसदी के बराबर थी. यह पिछले पांच साल में कंपनी की ओर से की गई सर्वाधिक बढ़त है.

महिंद्रा एंड महिंद्रा के ईडी राजेश जेजुरिकर ने आगाह किया था कि अगर इनपुट कॉस्‍ट में नरमी नहीं आई तो वित्‍त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में मजबूरन दाम बढ़ाने पड़ेंगे. रॉयल एनफील्‍ड के एमडी विनोद दसारी ने कहा कि कंपनी जनवरी में पहले ही दाम बढ़ा चुकी है. अगले वित्‍त वर्ष से दोबारा वह कीमतों में करीब 3-5 फीसदी बढ़ोतरी के बारे में सोच रही है.

सबसे बड़ी समस्‍या स्‍टील की कीमतों में जोरदार तेजी है. पिछले चार महीनों में इसके दाम 36,000 रुपये प्रति टन से उलछकर 58,000 रुपये प्रति टन पर पहुंच गए हैं. वहीं, पेट्रोल-डीजल, हाईवे टोल और टायर के दाम बढ़ने से लॉजिस्टिक्‍स और सप्‍लाई की कॉस्‍ट बढ़ी है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

कार की कीमतेंबढ़ेंगे दामइनपुट कॉस्‍टकच्‍चा मालऑटो पार्ट्स

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read


Relevant reports:ऑनलाइन पोकर वर्जीनिया
Relevant reports:188bet हमें चुनाव
Relevant reports:दिन होटल और कैसीनो
Relevant reports:विश्व फुटबॉल चुनौती
Relevant reports:ऑनलाइन कैसीनो जोंडर खाता
Relevant reports:क्या मैं लॉटरी टिकटों पर ऑनलाइन बेट लगा सकता हूँ?
Relevant reports:स्पोर्ट्स ओ रमा मैटीडेल न्यू
Relevant reports:क्रिकेट छोटे बच्चों का
Relevant reports:पोकर 5 अक्षर का शब्द
Relevant reports:365 स्पोर्ट्स बेटिंग संपर्क नंबर
Relevant reports:यूरोपीय फुटबॉल सूचना
Relevant reports:आईपीएल खेल ऑनलाइन
Relevant reports:ऑनलाइन पोकर echtgeld पेपैल
Relevant reports:ऑनलाइन गेम लैपटॉप
Relevant reports:लाइव कैसीनो विकी
Relevant reports:स्पोर्ट्स 4k वॉलपेपर
Relevant reports:नियम बोडमास

【font:large in Small
प्रतिलिपि अधिकार: दक्षिण न्यूज नेटवर्कगुआनडोंग आईसीपी तैयार 05070829 website identification code 4400000131
Sponsor: नान्फांग न्यूज़र नेटवर्क co sponsor: Provincial Economic and Information Technology Commission contractor: Nanfang news network
1024 is recommended × Browser with 768 resolution above IE7.0